व्यावसायिक भवनों व भूखंडों पर टैक्स लगाये जाने से नाराज ग्रामीणों ने फूंका सीएम व क्षेत्रीय विधायक का पुतला

कोटद्वार। व्यावसायिक भवनों एवं भूखंडों पर टैक्स लगाये जाने को लेकर नाराज ग्रामीणों ने प्रदेश के मुख्यमंत्री एवं क्षेत्रीय विधायक का पुतला दहन किया। पार्षद सूरज प्रसाद कांति के नेतृत्व में काशीरामपुर के ग्रामीणों ने बड़ी संख्या में नगर निगम कार्यालय में आकर प्रदेश सरकार की नीतियों की जमकर खिलाफत करते हुए टैक्स को लेकर आपत्तियां दर्ज करवायी है।
आंदोलन का नेतृत्व कर रहे पार्षद सूरज प्रसाद कांति ने कहा कि पहले तो प्रदेश में सत्तासीन भाजपा सरकार ने कोटद्वार भाबर में जबरदस्ती नगर निगम को थोपा है, और अब नगर निगम में सम्मिलित ग्रामीण क्षेत्रों में भी व्यावसायिक भवनों एवं खाली पड़े भूखंडों पर भी टैक्स लगाये जाने का फरमान जारी कर दिया है, जबकि प्रदेश के मुख्यमंत्री ने घोषणा की थी कि नगर निगम में सम्मिलित नये ग्राम सभाओं पर आगामी दस साल तक कोई टैक्स नहीं लगाया जायेगा, लेकिन अब सत्ता में आसीन भाजपा सरकार ने अपने ही आदेश को वापिस लेते हुए व्यावसायिक भवनों एवं भूखंडों पर टैक्स लगाये जाने का फरमान जारी कर लोगों को कर के बोझ के तले दबाने का प्रयास कर दिया है। पार्षद सूरज प्रसाद कांति ने कहा कि ग्रामीणों के द्वारा टैक्स वसूली का घोर विरोध किया जायेगा। इस मौके पार्षद सूरज प्रसाद कांति, राजेन्द्र सिंह गुंसाई, धीरेन्द्र सिंह बिष्ट, जितेन्द्र बिष्ट, थान सिंह, शीला बिष्ट, प्रियंका पटवाल, किरन जोशी, सपना राणा, ऊषा गुरंग, नीलम कुकरेती, रोशनी देवी, बुद्धबल्लभ नैनवाल, मनोज नेगी सहित बड़ी संख्या में ग्रामीण मौजूद थे।


शेयर करें

सम्बंधित ख़बरें

टीका - टिप्पणी