उत्तराखंड : क्षेत्रीय जनता के निशाने पर यमुनोत्री विधायक, मोटरमार्ग के उद्घाटन को बताया घटिया निर्माण पर खानापूर्ति

उत्तराखंड में यमुनोत्री से विधायक केदार सिंह रावत ने नौगांव-पौंटी-राजगढ़ी-सरनौल मोटरमार्ग के डामरीकरण कार्य का उद्घाटन किया। हालांकि उनके लिए उद्घाटन करना कोई नई बात नहीं है, लेकिन देखने वाली बात ये है कि, इस मोटरमार्ग पर तीन-चार दिन पहले से डामरीकरण का कार्य चल रहा है। वहीं, मार्ग के डामरीकरण कार्य को लेकर अभी से सवाल भी उठने लगे हैं। लोगों ने घटिया डामरीकरण का विरोध भी किया, बावजूद इसके विधायक घटिया काम की जाँच कराने के बजाय कार्य का उद्घाटन करने पहुंच गए।

नौगांव-पौंटी-राजगढ़ी-सरनौल मोटर मार्ग पर करीब एक करोड़ 43 लाख की लागत का ये डामरीकरण कार्य कुछ दिन पहले ही शुरू हुआ था। जहाँ गडोली और उसके आसपास निर्माण कार्यदायी एजेंसी ने घटिया डामरीकरण किया, जिसका लोगों ने पुरज़ोर विरोध भी किया। घटिया निर्माण के बारे में सूचित किये जाने पर एसडीएम भी मौके पर पहुंचे और डामरीकरण की जाँच किये जाने की बात कही।

उधर, डामरीकरण कार्य शुरू होने के पांच दिन बाद विधायक को उद्घाटन की सुध आई और इसके लिए बाकायदा कार्यक्रम आयोजित किया गया। हालांकि, इस दौरान उनके सामने भी लोगों ने घटिया काम का विरोध भी जताया। विधायक ने खानापूर्ति के लिए अधिकारियों कार्यक्रम में फटकार भी लगाई, लेकिन जो घटिया गुणवत्ता का काम हो चुका है। उसकी जाँच को लेकर एक शब्द भी विधायक जी के मुख से नहीं फ़ूटे।

बता दें, ऐसा ही एक मामला सोशल मीडिया में जमकर वायरल हो रहा है। सरनौल रोड़ पर हाल ही में पेटिंग कार्य किया गया था। आलवेदर रोड से तुलना करते हुए प्रचारित किया जा रहा था। लेकिन, उस सड़क पर भी घास उगने लगी है। इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि मार्ग पर किये गए डामरीकरण कार्य की क्या गुणवत्ता रही होगी। अब क्षेत्र में इन्हीं बातों को लेकर विधायक और दूसरे जनप्रतिनिधि का भी शक के घेरे में आना लाज़मी है।


शेयर करें

सम्बंधित ख़बरें

टीका - टिप्पणी