क्षेत्र का विकास करने में पूरी तरह से असफल साबित हुए सतपाल महाराज- इं0 डीपीएस रावत

क्षेत्र का विकास करने में पूरी तरह से असफल साबित हुए सतपाल महाराज- इं0 डीपीएस रावत

सतपुली। गढ़वाल संसदीय क्षेत्र के पूर्व लोकसभा प्रत्याशी इं० डीपीएस रावत ने क्षेत्रीय विधायक एवं पूर्व सांसद सतपाल महाराज पर क्षेत्र की उपेक्षा का आरोप लगाते हुए कहा कि उनके द्वारा विगत बीस सालों में क्षेत्र में विकास का काई काम नहीं हो पाया है।
इं0 डीपीएस रावत ने प्रेस को जारी विज्ञप्ति में कहा कि भरोलीखाल पडिण्डा मार्ग भी पिछले कई सालों से अधर में लटका पड़ा है। उन्होंने कहा कि क्षेत्रीय विधायक को विकास से कोई लेना देना नहीं है। उन्होंने कहा कि ग्रामसभा से ब्लॉक जाने तक कई किलोमीटर पैदल चलकर पहुंचना पड़ता है। दिक्कत तो तब आती है जब गांव मे किसी का स्वास्थ्य खराब हो जाता है, और उनको समय पर कोई सुविधाओं नही मिलती है। ग्राम सभा लेवल पर जंगली जानबरो, का आतंक, पानी की समस्या, रोजगार, स्वरोजगार, शिक्षा आदि की बहुत दिक्कतो का सामना करना पड़ता है। उन्होंने कहा कि भरोलीखाल-ऐरोली मोटरमार्ग जिसकी लम्बाई 3 किमी है जो कि आज से 18 वर्ष पहले 2003-04 में बन चुका था पर आजतक डामरीकरण और पक्के स्कपर नही बन पाए, व भरोलीखाल-ऐरोली- चंदोली मोटरमार्ग जिसका कि ऐरोली से आगे चंदोली तक लिये 5 किमी का निर्माण स्वीकृत होनी थी व भी नही हो पाई। इं० डीपीएस रावत ने कहा कि अभी 2 दिन बाद महाराज भरोलीखाल मे मैठाणा में एक ग्राउंड का उद्धघाटन करने जा रहे है यह अवैध निर्माण एव वन सम्पदा का एक जीता जागता उदाहरण है। जिस रोड पर यह ग्राउंड बन रहा है वह सड़क ग्राम मैठाणा गावं के लोगों ने पूर्व विधायक एवं माननीय सांसद तीरथ सिहं रावत के द्वारा विधायक निधि से लायी गयी रोड है। और अब सतपाल महाराज द्वारा इस सड़क पर ग्राउंड बनाया जा रहा है जिसका पूरा मलवा सड़क और बन संपदा व विधालय परिसर को नुकसान पहुँचा रहा है। जो कि सरासर गलत है। उन्होंने कहा कि क्या इस ग्राउंड को बनाने के लिये राजस्व, वन, पी॰डबल्यू॰डी॰ विभाग से कोई एन॰ ओ॰ सी॰ ली गयी है! देहरादून मे बैठकर केवल देश की जनता को अपने उपदेश देने से राज्य के लोगों का भला होने वाला नहीं है। इं० डीपीएस रावत ने कहा कि महाराज ने 25 सालो मे केवल बीजेपी, कांग्रेस पार्टियों की नैया पार लगाई। लेकिन क्षेत्रीय जनता का कोई विकास नहीं किया है। उन्होंने कहा कि अब क्षेत्र के जनता के पास सिर्फ क्षेत्रीय पार्टियों का विकल्प बचा है, यदि जनता ने क्षेत्रीय पार्टियों को सत्ता में आने का मौका दिया गया तो गांवों का चहुंमुखी विकास हो सकता है।

admin