मुख्यमंत्री रावत का नवरात्रि सरप्राइज, 3 तलाक की जंग जीतने वाली सायरा बानो को बनाया गया उत्तराखंड महिला आयोग की उपाध्यक्ष

उत्तराखंड की त्रिवेंद्र सरकार ने नवरात्र के शुभ अवसर पर 3 महिला कार्यकर्ताओं को राज्य महिला आयोग में उपाध्यक्ष पद पर नियुक्ति की सौगात दी है। इसके अलावा पूर्व सैनिक ब्लॉक प्रतिनिधियों के मानदेय में हर महीने 2 हजार रुपये और यात्रा भत्ते में हर महीने 1 हजार रुपये की वृद्धि के प्रस्ताव को भी स्वीकृति दी है। इससे इनके मानदेय में 40 प्रतिशत एवं यात्रा भत्ते में दोगुना वृद्धि होगी।

राज्य महिला आयोग में 3 महिलाओं को दायित्व के साथ ही राज्य मंत्री का दर्जा दिया गया है। सड़क से सुप्रीम कोर्ट तक तीन तलाक का मामला उठाने वाली काशीपुर निवासी सायरा बानो को महिला आयोग में उपाध्यक्ष (प्रथम) का दायित्व सौंपा गया है। इसके साथ ही रानीखेत की ज्योति शाह को उपाध्यक्ष (द्वितीय) और चमोली की पुष्पा पासवान को उपाध्यक्ष (तृतीय) बनाया गया है। सायरा बानो ने इसी 10 अक्टूबर को प्रदेश अध्यक्ष बंशीधर भगत की मौजूदगी में भाजपा की सदस्यता ग्रहण की थी। आयोग में उपाध्यक्ष के तीन पद काफी समय से खाली चल रहे थे।

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि राज्य महिला आयोग में उपाध्यक्ष के रिक्त पदों का दायित्व सौंपे जाने से राज्य में महिलाओं से संबंधित मामलों एवं समस्याओं के समाधान में मदद मिलेगी। दूसरी ओर, सरकार ने पूर्व सैनिक ब्लॉक प्रतिनिधियों की लंबे समय से चली आ रही मानदेय बढ़ोतरी की मांग भी पूरी कर दी है। अब तक ब्लॉक प्रतिनिधियों को प्रतिमाह 5 हजार रुपये मानदेय एवं प्रतिमाह 1 हजार रुपये यात्रा भत्ता मिलता था। इस वृद्धि के बाद पूर्व सैनिक ब्लॉक प्रतिनिधियों को अब प्रतिमाह 7 हजार रुपये मानदेय और 2 हजार रुपये यात्रा भत्ता मिलेगा।


शेयर करें

सम्बंधित ख़बरें

टीका - टिप्पणी