आम जनता के खुली तहसील, नहीं पहुंचे अधिकारी, बैरंग लौटे फरियादी

कोटद्वार। कोरोना संक्रमण को देखते हुए ऐहतियात के तौर पर तीन दिन तक बंद रहने के बाद सोमवार को तहसील परिसर को आम जनता के लिए खोल दिया है, लेकिन तहसील में अधिकारियों के न बैठने से लोगों को बैरंग वापिस जाने के लिए मजबूर होना पड़ रहा है।
गौरतलब है कि विगत दिनों एसडीएम अपर्णा ढौंडियाल की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद तहसील परिसर को ऐहतियात के तौर पर सील कर दिया गया था, तथा उपजिलाधिकारी के सम्पर्क में आने वाले समस्त अधिकारियों एवं कर्मचारियों को चिन्हित करते हुए कोरोना टैस्ट करवाया गया था। तहसील के तीन दिन बंद रहने से लोगों को खासी परेशानियों का सामना करना पड़ा, लेकिन सोमवार को तहसील को आम जनमानस के लिए खोल दिया गया है, लेकिन आम जनता के लिए तहसील खोले जाने के बाद भी सोमवार को उपजिलाधिकारी, तहसीलदार, नायब तहसीलदार के न पहुंचने से लोगों को बैरंग वापिस लौटने के लिए मजबूर होना पड़ रहा है। हालांकि कोरोना संक्रमण के चलते उपजिलाधिकारी को कोरोना गाइड लाइन का पालन करते हुए चौदह दिनों तक कोरोनटाइन रहना पड़ेगा।


शेयर करें

सम्बंधित ख़बरें

टीका - टिप्पणी