कोटद्वार : अश्लील हरकतों को देखकर ग्रामीण परेशान

राकेश पंत

कोटद्वार तहसील के अंतर्गत दुगड्डा ब्लॉक के प्रधान संगठन ने पहाड़ी क्षेत्रों में असामाजिक तत्वों की रोकथाम के उपजिलाधिकारी के माध्यम से एक मांग पत्र मुख्यमंत्री को प्रेषित किया। प्रधान संगठन के अध्यक्ष सरदार सिंह नेगी के नेतृत्व में प्रधानों ने तहसील में एकत्र होकर नारेबाजी करते हुए प्रदर्शन किया। जिसमें प्रधान संघ के अध्यक्ष सरदार सिंह नेगी ने प्रशासन पर आरोप लगाते हुए बताया कि कई बार पहाड़ी क्षेत्रों के गांवो से लगी हुई सड़क पर फुलिण्डा रामडी चरेख, रामड़ी बल्ली मथाणा मोटर मार्ग एवं ऐता चरेख मोटर मार्ग पर सामाजिक तत्वों एवं लड़के लड़कियों का झुण्डों में आन जाना काफी बढ़ गया है। ये लोग जगह – जगह सड़क के किनारे व जंगलों में बैठकर शराब पीकर उड़दंग मचाते हैं। असमाजिक तत्व घास काटने वाली एवं पशु चराने वाली महिलाओं एवं ग्रामीणों को परेशान करते हैं। गांव की महिलायें जंगलों में घास लेने मवेशी चराने जाती है, जो आजकल डर के साये में जंगल जा रही है। ये लोग झुण्डों में आते है, न मास्क लगाते है और ना ही सोशल डिस्टेटिग का पालन करते। इन लोगों से ग्रामीणों में कोरोना फैलने का भय भी व्याप्त हो रहा है। जंगलों मे सड़क किनारे, खेतों में बैठकर शराब पीते व हुडदंग मचाते है। जंगलों एवं खेतों में गंदगी मचा रहे है जो कि पर्यावरण के लिए खतरा है।वंही प्रेमी जोड़े भी खुलेआम सड़को पर अश्लील हरकतें करते नजर आते है।

इस संदर्भ में कई बार पूर्व में क्षेत्र के समस्त प्रधानों, क्षेत्र पंचायत सदस्य, जिला पंचायत सदस्यों, सामाजिक कार्यकर्ताओं द्वारा जिलाधिकारी पौडी एवं उपजिलाधिकारी कोटद्वार को ज्ञापन दिये गये हैं, लेकिन अभी तक शासन प्रशासन द्वारा कोई कार्यवाही नहीं की गयी है। प्रशासन द्वारा कार्यवाही न होने के कारण से ग्राम रामणी, धूराताल, उमरैला की महिलाओं द्वारा हर रविवार को क्षेत्र में घूमने आने वाले लोगों को अनुरोध कर व हाथ जोड़कर रोककर वापस भेजा जाता है। जिससे शासन प्रशासन क्षेत्र में पुलिस गश्त करनी चाहिए। जिससे क्षेत्र में असमाजिक तत्वों, हुडदंग मचाने वाले, जगह-जगह सड़क व जंगलों में शराब पीकर गंदगी करने वालों को रोका जा सके। साथ ही ग्रामीणों ने चेतावनी दी है कि मांग पर अतिशीघ्र कार्यवाही नहीं की गयी तो क्षेत्र के प्रतिनिधि व ग्रामीण जनता बड़े आंदोलन के लिए बाध्य होगी ।


शेयर करें

सम्बंधित ख़बरें

टीका - टिप्पणी