कोटद्वार : हाथरस में गैंगरेप की घटना को लेकर विभिन्न संगठनों ने योगी सरकार से की इस्तीफ़े एवं दरिंदों को फांसी दिये जाने की मांग

कोटद्वार : उत्तरप्रदेश के हाथरस में बाल्मीकी समाज की युवती के साथ गैंगरेप की घटना पर विभिन्न सामाजिक एवं राजनीतिक दलों का आक्रोश थमने का नाम नहीं ले रहा है, सामाजिक एवं राजनीतिक दलों ने उत्तरप्रदेश में बढती आपराधिक घटनाओं पर अंकुश न लगाये जाने पर मुख्यमंत्री से त्यागपत्र दिये जाने की मांग की है।
कांग्रेस पार्टी की वरिष्ठ नेत्री श्रीमती मीना बछुवाण के नेतृत्व में  श्रीमती कृष्णा बहुगुणा, विनीता भारती, महिलाओं ने उपजिलाधिकारी के माध्यम से राष्ट्रपति को ज्ञापन प्रेषित करते हुए गैंगरेप के आरोपियों को फांसी की सजा दिये जाने एवं पीडित परिवार को न्याय दिये जाने की मांग की है।
वहीं पार्षदों ने भी निकाय सभासद के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष गुडू सिंह चौहान के नेतृत्व में पार्षदों ने मालवीय उद्यान में गैंगरेप की शिकार युवती को श्रद्धाजंलि देते हुए सांकेतिक उपवास रखा तथा प्रदेश सरकार पर बेटियों की सुरक्षा करने में नाकामी का आरोप लगाते हुए मुख्यमंत्री से त्यागपत्र देने की मांग की है, साथ ही दोषियों को फांसी की सजा दिये जाने एवं पीडित परिवार को न्याय दिये जाने की मांग की है।
इस मौके पर गुडू सिंह चौहान, विपिन डोबरियाल, सुखपाल शाह, बीना नेगी, पिंकी रावत, अनिल रावत, मुकेश मल्होत्रा, विजेता रावत, सोनिया नेगी, गिंदी दास, नईम अहमद, विजेता रावत मौजूद थे। वहीं शैल शिल्पी विकास संगठन ने भी हाथरस की धटना पर अपना विरोध जताते हुए उपजिलाधिकारी के माध्यम से राष्ट्रपति को ज्ञापन प्रेषित किया है। शैल शिल्पी संगठन ने उत्तरप्रदेश में आपराधिक घटनाओं के लिए योगी सरकार को जिम्मेदार ठहराते हुए मुख्यमंत्री से इस्तीफे की मांग की है। इस मौके पर सुरेन्द्र लाल आर्य, विकास  आर्य, शिवकुमार, सूरवीर खेतवाल, श्रीमती मीना बछुवाण, विनीता भारती, हर्ष कुमार, प्रभुदयाल, सोहन लाल, अनिल कुमार, देवेन्द्र भट्ट मौजूद थे।

शेयर करें

सम्बंधित ख़बरें

टीका - टिप्पणी