कोटद्वार : धूमधाम से मनाई गई उत्तराखंड रत्न कर्मवीर जयानन्द भारतीय की 140वी जयंती

कोटद्वार : शैलशिल्पी विकास संगठन कोटद्वार के तत्वावधान में स्वतंत्रता संग्राम सैनानी उत्तराखंड रत्न कर्मवीर जयानन्द भारतीय की 140वी जयंती संगठन के कार्यालय सिमलचौड में धूमधाम से मनाई गई। कार्यक्रम की अध्यक्षता संगठन के अध्यक्ष शिव कुमार ने व संचालन विकास आर्य ने किया।

सर्वप्रथम भारतीय जी के चित्र पर माल्यर्पण व दीप प्रज्वलित कार्यक्रम के मुख्य मिति नगर आयुक्त पीएल शाह विशिष्ठ अतिथिगण अभिरलाष गैराला प्रदीप सिंह रौथाण ने किया। इस अवसर पर समाज सेवा के क्षेत्र में समाजसेवी सुरेन्द्र लाल आर्य व सबल सिंह को उत्कृष्ठ योगदान हेतु नगर आयुक्त पीएल शाह के हाथों शैलशिल्पी कर्मवीर जयानन्द भारतीय सम्मान 2020 से सम्मानित किया गया आरडी मनियारी का सम्मान संगइन के सदस्यों द्वारा उनके घर पर जाकर किया गया।

इस अवसर पर पीएल शाह ने उत्तराखण्ड रत्नी कर्मवीर जयानन्द भारतीय के व्यक्तित्व एवं कृतित्व पर प्रकाश डालते हुए कहा कि उनके जैसे वीरों ने अंग्रेजी हुकुमत की चूले हिलाकर रख दी देश की आजादी में उनके योगदान को भुलाया नहीं जा सकता, उत्तराखण्ड के शैक्षिक पाठ्यक्रम में उनके जीवन दर्शन को पढ़ाया जाना चाहिए।

विशिष्ठ अतिथि अभिलाषा गैरोला ने सामाजिक विषमताओं को रेखांकित करते हुए कहा कि, डॉ0 अम्बेडकर को अभी बहुत कुछ समझा जाना बाकी है। एडवोकेट जगमोहन भारद्वाज ने कहा कि स्व0 बलदेव सिंह आर्य के नाम पर पार्थ व सड़क का नामकरण होना चाहिए, उनके योगदान को भुयाया जा रहा है आर्य गिरधारी लाल महर्षि दयानन्द ट्रस्ट के सचिव समाजेसवी कै0 पीएल खंतवाल ने कहा कि आज भी हम विषमताओं भरे जीवन से गुजर रहे है हमें डॉ0 अम्बेडकर के शिक्षित बनो संगठित रहो, संघर्ष करो के मूल मंत्र को अपने जीवन में उतारना चाहिए।

इस मौके पर सुरेन्द्र लाल आय सोहन लाल मीना बछवाण, बिनीता भारती, अनिल कुमार, प्रभूदयाल, राजेन्द्र सिंह, आशीष कुमार, प्रीति सिंह, अरूण कोटला, रूतेन्द्र खेतवाल, कै0 पीएल खंतवाल, हर्ष कुमार आदि मौजूद रहे।


शेयर करें

सम्बंधित ख़बरें

टीका - टिप्पणी