अगर आपके परिवार में या नाते-रिश्तेदार में कोई नशे का आदी है, ये ख़बर पढ़ना ना भूलें

ऋषिकेश : अगर आपके आसपास या आपके अपने नाते रिश्तेदार में कोई व्यक्ति चरस और स्मैक जैसे जानलेवा नशे के आदी हो चुके हैं और लाख कोशिशों के बावजूद वे नशे से बाहर नहीं निकल पा रहे हैं, तो ऐसे लोगों को नशे की लत से छुटकारा दिलाने के लिए ऋषिकेश पुलिस ने एक अनूठी पहल की है। ऋषिकेश पुलिस अब युवा पीढ़ी को नशे की लत से बाहर निकालने के लिए दृढ़ संकल्पित है।

बता दें कि, डीआईजी और देहरादून एसएसपी अरुण मोहन जोशी ने पुलिस को जिले भर में “ऑपरेशन सत्या” अभियान चलाये जाने को लेकर निर्देश दिया था। इसे देखते हुए, दो (2) बच्चे स्मैक पीने और हशीश के आदी थे, जिन्हें परिवार के सदस्यों और परामर्श के माध्यम से पुलिस स्टेशन बुलाया गया था।

बता दें कि, ऋषिकेश शहर में नशे का जहर व्यापक रूप से फ़ैल रहा है। लोग ऋषिकेश में कुछ असमाजिक तत्वों द्वारा गुपचुप तरीके से शराब परोसी और बेची जा रही है। ग़ौरतलब है कि, अब तक पुलिस ने कई स्मैक, हशीश, शराब तस्करों के ख़िलाफ़ अभियान चलकर उन्हें सलाख़ों के पीछे भेजा है। वहीं, अब तक कई नाबालिग भी नशे की गिरफ़्त में आ चुके हैं।

जिला पुलिस द्वारा इस अभियान को सफल बनाने और युवाओं के जीवन को बेहतर बनाने के लिए, ऋषिकेश कोतवाली प्रभारी निरीक्षक रितेश शाह ने कई टीमों का गठन किया। ऋषिकेश की आम जनता और युवाओं को “ऑपरेशन सत्या” के बारे में जागरूक करने के लिए, बैनर और पुलिस अधिकारियों / कर्मचारियों की मदद से लगातार प्रचार-प्रसार जोरों पर है।

बता दें कि, ऋषिकेश स्तिथ वाल्मीकि बस्ती और बनखंडी ऋषिकेश क्षेत्र के दो परिवारों को “ऑपरेशन सत्या” के बारे में पता चला तो वे अपने दो बच्चों को थाने में परामर्श के लिए ले आए, जहाँ उन्होंने बताया कि, उनके दोनों बच्चे स्मैक और चरस के आदी हैं। नशे के मामलों में, वे चोरी की घटनाओं को भी अंजाम देते हैं। जिस पर अलग-अलग सब-इंस्पेक्टर उत्तम रमोला और सब-इंस्पेक्टर सत्येंद्र भाटी ने दोनों लड़कों की उनके परिवारों के सामने सलाह मशवरा किया। उन्हें नशे के दुष्प्रभाव से अवगत कराया गया। इस दौरान पुलिस ने ये भी जाना कि, उन्हें नशे की दवा कहाँ से मिलती है। सलाह मशवरे के बाद, दोनों बच्चों को परिवार के सदस्यों को सुरक्षित रूप से सौंप दिया गया, और कहा गया कि, भविष्य में वे दोनों किसी भी प्रकार का नशा न करें।


शेयर करें

सम्बंधित ख़बरें

टीका - टिप्पणी