टैक्स के विरोध आपत्ति दर्ज कराने के लिए सैकडो लोग आये सामने, विभिन्न संगठनों ने भी कराई आपत्ति दर्ज

कोटद्वार। राज्य सरकार द्वारा कोटद्वार नगर निगम के अंतर्गत रहने वाले लोगों पर लगाये गये सम्पत्ति कर के विरोध में उत्तराखण्ड क्रांति दल, वरिष्ठ नागरिक संगठन, पूर्व सैनिक सेवा परिषद, पेंशनर वेलफेयर एसोसिएशन, कोटद्वार नव निर्माण संघर्ष समिति, कांग्रेस, श्री नरेन्द्र भाई मोदी विचार मंच सहित विभिन्न समाजिक संगठन ने आपत्ति दर्ज करते हुए घोर विरोध व्यक्त किया है।

शनिवार को मालवीय उद्यान में सम्पत्ति कर का विरोध करते हुए उक्रांद महानगर अध्यक्ष भूपाल सिंह रावत ने कहा कि निगम बनाने पर व ग्रामीण क्षेत्रों को नगर निगम में शामिल करने में धरना प्रदर्शन किया गया था व विरोध किया गया था जबकि नगर निगम बनाते समय मुख्यमंत्री द्वारा घोषणा की गयी थी कि निगम में शामिल ग्रामीण क्षेत्रों से 10 साल तक किसी भी प्रकार का कर नहीं लिया जायेगा। परन्तु अब सरकार द्वारा जनता से सम्पत्ति कर लिया जा रहा है जो सरासर गलत है। जिसका उक्राद पुरजोर विरोध करता है।

वही नगर निगम के बाहर प्रदर्शन करते हुए वरिष्ठ नागरिक संगठन के अध्यक्ष महेन्द्र कुमार अग्रवाल ने कहा कि दो वर्ष पूर्व कोटद्वार नगर पालिका का विस्तार कर नगर निगम बनाया गया था, जिसमें 35 ग्राम सभाओं को सम्मिलित किया गया था। इस दौरान प्रदेश के मुख्यमंत्री द्वारा 10 साल तक निगम क्षेत्र में सम्मिलित ग्रामिण क्षेत्रों से किसी भी प्रकार का कर न लिये जाने की घोषणा की गयी थी। साथ ही जनता से वादा किया गया था कि निगम क्षेत्र में अत्यधिक विकास कार्य किये जायेंगे। परन्तु आज तक किसी भी प्रकार का विकास कार्य निगम क्षेत्र में नहीं किया गया इसके उलट जनता पर सम्पत्ति टैक्स थोप दिया गया है। जिसका वरिष्ठ नागरिक संगठन विरोध करता है। इस दौरान संगठन द्वारा प्रदेश के मुख्यमंत्री तथा प्रदेश के शहरी विकास मंत्री मदन कौशिक को ज्ञापन भेजा गया तथा उनसे टैक्स को हटाने की मांग की गयी।

प्रदर्शन करते हुए कोटद्वार नव निर्माण संघर्ष समिति के अध्यक्ष डॉ0 शक्ति शैल कपरवाण ने कहा कि गृहकर भूखण्ड कर, व्यवसाय कर को समाप्त करने, मोटर नगर का शीघ्र निर्माण किया जाना चाहिए। क्योंकि प्रदेश सरकार द्वारा जनता पर कर लगाने की प्रक्रिया न्याय संगत नहीं है। क्योंकि पूर्व में ही मुख्यमंत्री द्वारा घोषणा कर दी गयी थी कि 10 साल तक जनता से किसी भी प्रकार का कर नहीं लिया जायेगा। कहा कि पहले ही निगम क्षेत्र में कई कार्य ऐसे है जो अधर में अटके हुए है ऐसे में पहली प्राथमिकता यह है कि उन कार्यो को पूरा किया जाये। कहा कि समिति प्रदेश सरकार द्वारा लगाये गये टैक्सों का घोर विरोध करती है।
नगर निगम में टैक्स के विरोध में आपत्ति दर्ज कराते हुए पूर्व सैनिक सेवा परिषद के पदाधिकारियों ने कहा कि सरकार द्वारा घोषणा करने के बाद जनता पर सम्पत्ति कर लगाना न्याय संगत नहीं है। इससे साफ प्रतीत होता है कि प्रदेश सरकार एक तरफ तो जनता के हित की बात कर रही है वही दूसरी ओर जनता के हितों का हनन कर रही है।
वहीं आपत्ति दर्ज कराते हुए पेंशनर वेलफेयर एसोसिएशन के अध्यक्ष ने कहा कि जनता के साथ प्रदेश सरकार ने धोखा किया है। पहले तो मुख्यमंत्री द्वारा कर न लागाये जाने की घोषणा की गयी परन्तु उसके उलट जनता पर सम्पत्ति कर थोप दिया गया उन्होने कहा कि एसोसिएशन इसका घोर विरोध करता है।

प्रदेश सरकार द्वारा निगम क्षेत्र में लगाये गये सम्पत्ति कर के विरोध में शनिवार को समाजसेवी सतीश मलासी ने भी आपत्ति दर्ज कराई। इस दौरान उन्होने कहा कि सरकार ने निगम क्षेत्र में कर लगाकर जनता को ठगने का प्रयास किया है। एक तरफ तो सरकार के मुखिया द्वारा 10 साल तक टैक्स न लिये जाने की बात की जाती है वहीं दूसरी ओर जनता पर टैक्स लगाकर जनता को ठगने का प्रयास किया जा रहा है। जिसका सभी को विरोध करना चाहिए।
विरोध करने वालों में उक्रांद दल से महेन्द्र सिंह रावत, पितृशरण जोशी विजय पाल सिंह, विनय भट्ट, भूपाल सिंह रावत, गुलाब सिंह रावत, ध्यात सिंह गुंसाई, पुष्कर सिंह, बंटी सिंह नेगी, विजय सिंह, प्रवीन नेगी, लक्ष्मी रावत, आनन्दी कुरेती, सुशीला देवरानी, प्रकाश बमराडा, प्रदीप ओम प्रकाश, राजेन्द्र सिंह, सुरेन्द्र भाटिया, बलवंत सिंह रावत, रेखा रावत, प्रतिभा रावत, अनिल जोशी वरिष्ठ नागरिक संगठन से महेन्द्र कुमार, प्रदीप कुमार आग्रवाल, पूर्व सैनिक सेवा परिषद से कै0सीपी डोबरियाल, अनूप बिष्ट, सुरेश रावत, सूरवीर सिंह खेतवाल, गोपाल सिंह नेगी, कै0 सीपी धूलिया, कोटद्वार नव निर्माण संघर्ष समिति से डॉ0 शक्तिशैल कपरवाण, प्रवेन्द्र सिंह रावत, दर्शनसिंह, सुरेश पटवाल, महेश केष्टवाल, सुमन्त भट्ट, प्रवेश चन्द्र नवानी, जनाद्र्धन ध्यानी, शशिप्रभा रावत, राजाराम, बबीता रावत, गजेन्द्र तिवारी, गोविंद डंडरियाल, योगम्बर सिंह रावत, अनुसूया प्रसाद सेमवाल, श्री नरेन्द्र भाई मोदी विचार मंच, से सुभाष कुकरेती, बलवान सिंह रावत, उमेद सिंह चौधरी आदि मौजूद रहे।


शेयर करें

सम्बंधित ख़बरें

टीका - टिप्पणी