ईमानदारी आज भी जिन्दा है, 52 हजार रुपये देख नहीं जागा लालच

गढ़वाल के लोग अपनी ईमानदारी के लिए देश ही नहीं बल्कि विदेशों में भी जाने जाते है। आपको बता दें, सतेराखाल क्षेत्र के भाई विकास बर्त्वाल (स्यूपुरी), राहुल सजवाण(सिल्ली), संदीप कोहली(स्यूपुरी), तनुज रावत(सन) ये सभी भाई केदारनाथ धाम की यात्रा पर गये थे और वापसी में 10 अक्टूबर की शाम रुद्रप्रयाग में उनको संगम पर 52000 रुपये से भरा पर्स और जरुरी सामान मिला था। चारों युवाओं ने ईमानदारी का परिचय देते हुए पर्स को रुद्रप्रयाग पुलिस को सौंप दिया।

उसके बाद सोशल मीडिया पर खोये हुए पर्स की जानकारी डाली गयी तो आज दिल्ली निवासी श्रुति गुप्ता व उनके परिवारजनों को पर्स उनके सुपुर्द किया गया। श्रुति जो कि परिवार के साथ केदारनाथ यात्रा पर आयी थी संगम पर फोटो खिंचवाते हुए उनका पर्स छूट गया था। इन चारों भाइयों ने ईमानदारी का जो कार्य किया है उससे हर व्यक्ति एक ही बात कहेगा कि “ईमानदारी आज भी जिन्दा है”। सभी क्षेत्रवासी चारों युवाओं की उज्ज्वल भविष्य की कामना करते हैं।


शेयर करें

सम्बंधित ख़बरें

टीका - टिप्पणी