डॉ0 भीमराव अंबेडकर को दी गयी भावभीनी श्रद्धांजलि

 डॉ0 भीमराव अंबेडकर को दी गयी भावभीनी श्रद्धांजलि
0 0
Read Time:2 Minute, 46 Second

कोटद्वार। भारतीय दलित साहित्य अकादमी जनपद कोटद्वार के तत्वावधान में अकादमी कार्यालय पदमपुर सुखरौ में एक गोष्ठी का आयोजन किया गया, जिसमें संविधान निर्माता भारत रत्न डॉ0 भीमराव अंबेडकर को उनकी पैंसठवीं महापरिनिर्वाण दिवस पर भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की गयी। संजय फौजी भाई सभासद नगर पालिका परिषद् श्रीनगर गढ़वाल ने कहा कि डॉ0 अंबेडकर साहब ने भारत के संविधान में उद्देशिका स्पष्ट करते हुये कहा था कि हम भारत के लोग, भारत को एक संपूर्ण प्रभुत्व सम्पन समाजवादी पंथ निरपेक्ष लोकतंत्रात्मक गणराज्य बनाने के लिये तथा उसके समस्त नागरिकों को सामाजिक, आर्थिक और राजनैतिक न्याय, विचार, अभिव्यक्ति, विश्वास, धर्म और उपासना की स्वतंत्रता, प्रतिष्ठा और अवसर की समता प्राप्त कराने के लिये, तथा उन सब में व्यक्ति और गरिमा और राष्ट्र की एकता और अखंडा सुनिश्चित करने वाली बंधुता बढ़ाने के लिये दृढ़ संकल्प होकर संविधान सभा में इस बात को रखा था। गढ़वाल सर्वोदय मंडल के सचिव शूरवीर सिंह खेतवाल ने कहा कि सर्वधर्म समबाहु एवं धर्मनिरपेक्षता हमारे संविधान का आभूषण है। इस अवसर पर सभा में उपस्थित संजय फौजी सभासद नगर पालिका परिषद श्रीनगर गढ़वाल को डॉ0 अंबेडकर नेशनल फैलोशिप अवार्ड 2021 हेतु चयन होने पर खुशी व्यक्त की गयी। श्री संजय फौजी एक दशक से समाजिक सरोकारों जुड़कर समाज सेवा कर रहे हैं। भारत दलित साहित्य अकादमी जनपद कोटद्वार के जिलाध्यक्ष सुरेंद्रलाल आर्य की अध्यक्षता में हुई सभा का संचालन सतीश कुमार सेवानिवृत्त तहसीलदार ने किया। इस मौके पर सभा में वयोवृद्ध साहित्यकार चक्रधर शर्मा कमलेश, शूरवीर खेतवाल, सतीश कुमार, संदीप आर्य, राजीव कुमार, प्रवेन्द्र सौडियाल, श्रीमती सुर्जी देवी, श्रीमती सरोज देवी, सपना आदि उपस्थित रहे।

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

admin

Related Posts

Read also x