छठ पूजा को लेकर राज्य प्रशासन द्वारा गाइड लाइन जारी

देहरादून। छठ पर्व को लेकर दून जिला प्रशासन ने मानक प्रचलन विधि जारी कर दी है। इसके तहत श्रद्धालु घाटों या फिर सावर्जनिक स्थानों पर छठ के आयोजन नहीं कर पाएंगे। घरों में रहकर ही पूजन और अघ्र्य दिया जाएगा। वहीं, कंटेनमेंट जोन में छठ पूजा का आयोजन पूरी तरह प्रतिबंधित है। इसके अलावा कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए श्रद्धालुओं को दो गज की दूरी बनाए रखना और मास्क पहनना जरूरी है।
लोक आस्था का छठ महापर्व छठ नहाय खाय के साथ शुरू हो गया है। इसको लेकर उत्तराखंड सरकार ने एसओपी जारी कर दी है। वर्तमान में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए घाटों पर सामूहिक सूर्य अघ्र्य और पूजन की जगह सभी श्रद्धालु अपने घरों पर रहकर ही उचित दूरी बनाकर आयोजन संपन्न कर सकेंगे। छठ पूजा को लेकर जारी दिशा-निर्देश- 1- घरों पर रहकर ही दिया जाएगा अघ्र्य। 2- दो गज की दूरी और मास्क जरूरी। 3- कंटेनमेंट जोन में छठ पूजा का आयोजन पूरी तरह प्रतिबंधित। 4- सभी श्रद्धालु छठ पूजा के कार्यक्रम के दौरान अधिक संख्या में घरों में एकत्रित न हों। 5- दस वर्ष से कम आयु के बच्चों का छठ पूजा कार्यक्रम के दौरान विशेष ख्याल रखा जाए। और 65 वर्ष से अधक आयु की महिलाओं और पुरुषों को अपने स्वास्थ्य के लिए इस कार्यक्र से दूरी बनाए रखना बेहतर होगा।


शेयर करें

सम्बंधित ख़बरें

टीका - टिप्पणी