पूर्व सीएम त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने किया रांसी स्टेडियम व ल्वाली झील का निरीक्षण

प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री एवं डोईवाला विधायक त्रिवेंद्र सिंह रावत एवं क्षेत्रीय विधायक मुकेश सिह कोली ने गुरूवार को पौड़ी विधानसभा के अन्तर्गत रांसी स्टेडियम तथा ल्वाली झील का निरीक्षण किया। पूर्व मुख्यमंत्री ने रांसी स्टेडियम में ट्रेनिंग सेंटर तथा हॉस्टल आदि की डिजाईन का अवलोकन करते हुए, कार्य में तेजी लाने को कहा, साथ ही उन्होने कहा कि स्थानीय शैली पर निर्माण कार्य को भव्य स्वरूप दिया जाय। जिससे स्थानीय कारीगरों को रोजगार का अवसर मिल सकें व पहाड़ी शैली की जीवंतता बनी रहे। इसके उपरान्त उन्होने निर्माणाधीन ल्वाली झील का निरीक्षण करते हुए सम्बन्धित अधिकारियों को कहा कार्य में तेजी लाये नियत समय पर प्रथम चरण के कार्य पूर्ण करते हुए झील को भव्य रूप दें। जिससे यहां आने वाले पर्यटक झील का खूब लुफ्त उठा सकें। साथ ही उन्होंने कहा कि खर्चीले पर्यटक को क्षेत्र में आकर्षित करने के लिए मास्टर प्लान के आधार पर कार्य करने की जरूरत है। जिस हेतु उन्होने गगवाडस्यूं क्षेत्र के समस्त क्षेत्र पंचायत सदस्य, ग्राम प्रधान, जनप्रतिनिधि व अन्य लोगों को अपने क्षेत्र में विशेष बैठक का आयोजन कर मास्टर प्लान बनाने को कहा। पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि ल्वाली झील का निर्माण कार्य फेज वाइज तैयार किया जा रहा है। झील का कार्य पूर्ण होते ही बाहर से पर्यटकों के आने से स्थानीय लोगों को रोजगार के अवसर प्राप्त होंगे। जिससे वह अपनी आर्थिकी को मजबूत बना सकेंगे, साथ ही पलायन भी रुकेगा। कहा कि रोजगार के अलावा गगवाडस्यूं क्षेत्र की जनता को इस झील से पर्याप्त मात्रा में पानी भी उपलब्ध बनी रहेगी। उन्होंने कहा स्थानीय लोगों से कहा कि क्षेत्र में पानी की बढ़ोतरी लानी है तो हर वर्ष कम से कम 01 हजार बांज के पौधों का रोपण करें, जिससे झील के अलावा क्षेत्र में पानी की समस्या दूर होगी। झील के विकसित होने से अनेकों परिदे यहां विचरण करेंगे। जिसें देखने के लिए पर्यटकों में जिज्ञासा बनी रहेगी। कहा कि झील बनने से पर्यावरण पर भी अच्छा प्रभाव पड़ेगा। पूर्व मुख्यमंत्री ने रांसी स्टेडियम का जायजा लेते हुए सम्बन्धित अधिकारियों को कहा कि खेल प्रतिभागियों के लिए ट्रेंनिग की समुचित व्यवस्था हो। जिससे यहां स्थानीय खिलाड़ियों के अलावा बाहर से भी ट्रेंनिग लेने प्रतिभागी पहुंचे। साथ ही उन्होंने कहा कि इस स्टेडीएम में आपदा, पुलिस, एसडीआरएफ के जवान भी प्रशिक्षण ले सकेंगे, जिससे उन्हें आपदा से निपटने के लिए आसानी होगी। क्षेत्रीय विधायक मुकेश सिह कोली ने कहा कि गगवाडस्यूं क्षेत्र के लिए यह झील एक बड़ी उपलब्धि है। कहा कि निर्माणाधीन झील का कार्य पूर्ण होने पर स्थानीय लोगों को रोजगार प्राप्त होगा। जिससे वह झील के स्थित विभिन्न रोजगार खोल सकेंगे। साथ ही उन्होंने कहा कि झील के समीप हट्स, योगा, पैदल पाथ आदि अन्य गतिविधि स्थापित होगें। जिससे पर्यटकों मनोभाव के अनुकूल सुविधा मिल सकेंगे। जिससे यहा आने वाले पर्यटक लुफ्त उठा सकेंगे। इस अवसर पर जिला अध्यक्ष संपत सिंह रावत, राज्यमंत्री दर्जाधारी सुषमा रावत, अपर जिलाधिकारी ड़ एस़ के़ बरनवाल, एडीएम पौड़ी एस़ एस़ राणा, तहसीलदार एच एम खण्डूडी, अ0अ0 सिचाई सुशील कुमार, जल संस्थान एस के राय, एई लोनिवि जी़एस़कौण्डल, जिला महामंत्री भाजपा जगत किशोर बड़थ्वाल, नगर अध्यक्ष क्रांति किशोर, सीताराम जुयाल, बबिता रावत, अनूप देवरानी सहित ग्राम प्रधान व जनप्रतिनिधि उपस्थित थे।


शेयर करें

सम्बंधित ख़बरें

टीका - टिप्पणी