भ्रष्टाचार के खिलाफ पार्षद का धरना दूसरे दिन भी रहा जारी

कोटद्वार। नगर निगम के काशीरामपुर तल्ला के पार्षद सूरज प्रसाद कांति का नगर निगम के अधिकारियों की निरंकुशता, भ्रष्टाचार, बाजार में घूम रहे आवारा सुवरों की समस्या, बोर्ड बैठक में पारित प्रस्तावों की पुष्टि न होने सहित विभिन्न समस्याओं को लेकर अनिश्चितकालीन धरना दूसरे दिन शनिवार को भी जारी रहा।
नगर निगम में धरना शुरू करते हुए काशीरामपुर के पार्षद सूरज प्रसाद कांति ने कहा कि वर्तमान भाजपा सरकार ने कोटद्वार वासियों को बगैर विश्वास में लिये ही जनता पर जबरदस्ती नगर निगम थोप दिया है, लेकिन अब नगर निगम बन जाने के बाद अधिकारी निरकुंश हो गये है, जनता के द्वारा चुने गये पार्षदों की बातों को लगातार अनसुना किया जा रहा है, जिससे आज जनमानस के कार्य नहीं हो रहे है। पार्षद सुरज प्रसाद कांति ने कहा कि नगर निगम प्रशासन ने विगत चार माह पूर्व हुई बोर्ड बैठक में पारित प्रस्तावों की पुष्टि नहीं की गयी है, लगातार शिकायत किये जाने के बावजूद भी आवारा घूम रहे सुवरों की समस्या का अभी तक समाधान नहीं किया गया है, नगर निगम के अधिकारियों एवं कर्मचारियों के द्वारा पार्षदों की समस्याओं को लगातार नजर अंदाज किया जा रहा है, जनता के विरोध के बावजूद भी रिहायशी इलाकों में टॉवर लगाये जा रहे है, जिससे आम लोगों को खासी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। नगर निगम के अधिनियम 1959 के अंतर्गत पार्षदों के अधिकारों को लिखित रूप से परिभाषित करने की मांग की है। पार्षद सूरज प्रसाद कांति ने कहा कि जब तक उक्त समस्याओं का समाधान नहीं हो जाता तब तक उनका धरना जारी रहेगा।


शेयर करें

सम्बंधित ख़बरें

टीका - टिप्पणी