उत्तर प्रदेश समेत इन राज्यों में खुलने जा रहे हैं 9वीं से 12वीं तक के स्कूल, ये होंगे नए नियम

Uttar Pradesh : कोरोना वायरस महामारी (Corona Virus Pandemic) के चलते पिछले सात महीनों से बंद चल रहे नौवीं से बाहरवीं तक के स्कूल आज से खुलने जा रहे हैं. सोमवार से उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के साथ पंजाब (Punjab) और सिक्किम (Sikkim) में भी 9वीं से 12वीं तक के स्कूल (School) खुल जाएंगे. इसे लेकर माध्यमिक शिक्षा विभाग ने राजकीय विद्यालयों में संक्रमण रोकने के पुख्ता इंतजाम करने का दावा किया है. इसके साथ ही सहायता प्राप्त और वित्तविहीन विद्यालयों को बच्चों को कोरोना से बचाने की पर्याप्त व्यवस्था करने के निर्देश दिए गए हैं।

बता दें कि कोरोना वायरस के संकट के चलते मार्च में पूरे देश में लॉकडाउन लागू किया गया था. जिसके बाद जून से अबतक देश में अनलॉक की प्रक्रिया जारी है. इस अनलॉक की प्रक्रिया के तहत केंद्र सरकार ने राज्यों को स्कूल खोले जाने की अनुमति भी दी है, जिसके चलते कई राज्यों ने 15 अक्टूबर से स्कूल खोलने का फैसला किया था तो वहीं कुछ राज्य आज यानी 19 अक्टूबर से स्कूल खोलने जा रहे हैं।

इन राज्यों के ज्यादातर बड़े निजी स्कूलं ने कोरोना को देखते हुए दसवीं और बारहवीं के छात्रों को ही स्कूल आने की इजाजत दी है. दशहरा के बाद नौवीं और 11वीं के छात्र-छात्राओं को स्कूल आने को कहा गया है. वहीं, यूपी बोर्ड व सीबीएसई के सरकारी स्कूलों ने सोमवार से 9 से 12 तक के उन सभी छात्रों को बुलाने का निर्णय लिया है, जिनके अभिभावकों की सहमति मिल गई है. माध्यमिक शिक्षा निदेशक विनय कुमार पांडेय ने बताया कि सोमवार से कक्षा 9 से 12 तक के स्कूलों का संचालन दो पालियों में किया जाएगा. कक्षा 9 एवं 10 के लिए पहली पाली सुबह 8.50 से 11. 50 बजे और 11 एवं 12 के लिए दूसरी पाली दोपहर 12.20 से 3.20 बजे तक संचालित होगी।

ये होंगे नए नियम-

फर्नीचर, स्टेशनरी, कैंटीन, लैब के साथ ही पूरे परिसर और क्लास रूम को रोज सैनिटाइज करना होगा. एक क्लास में एक दिन में 50 फीसदी बच्चे ही बैठेंगे. दूसरे दिन बाकी के बच्चों की पढ़ाई होगी. दो स्टूडेंट्स के बीच 6 फीट की दूरी अनिवार्य होगी. इसके अलावा सबसे सख्त नियम ये है कि कोई भी स्टूडेंट अपने अभ‍िभावक की ब‍िना ल‍िख‍ित अनुमत‍ि के स्कूल नहीं आ सकेगा।

इसके अलावा सोशल डिस्टेंसिंग का ख्याल रखा जाएगा. कोशिश ये रहेगी कि अभिभावक खुद बच्चे को लाएं और लेकर जाएं. बच्चे को यूनिफार्म में फुल आस्तीन की शर्ट, फुल पैंट और जूते-मोजे पहनना जरूरी होगा. गाइडलाइंस का पालन बहुत अनिवार्य होगा. क्लासरूम में मास्क उतारने की अनुमति नहीं होगी।

केंद्रीय गृह मंत्रालय की गाइडलाइन में कहा गया है कि स्कूलों की तरफ से स्टूडेंट्स पर कक्षाओं में आने के लिए कोई दबाव नहीं डाला जाएगा. यहां तक कि स्कूल जाने के लिए छात्रों को अभिभावकों की लिखित अनुमति को सबसे जरूरी माना गया है. इसके अलावा स्कूल ऑनलाइन कक्षाएं पहले की तरह जारी रख सकेंगे।


शेयर करें

सम्बंधित ख़बरें

टीका - टिप्पणी