राष्ट्रीय लोकदल के जिलाध्यक्ष रामरसपाल पौनियाँ ने माँगी सार्वजनिक मांफी

बीते शनिवार को समाजवादी पार्टी जिला कार्यालय पर सपा रालोद कि संयुक्त प्रेसवार्ता कि गयी। जिसमें 10 अक्टूबर खेत बचाओ, किसान बचाओ रैली के दौरान मंच संचालक जिलाध्यक्ष रालोद मथुरा श्री रामरसपाल पौनियाँ द्वारा सपा के जिलाध्यक्ष श्री लोकमणिकांत जादौन जी का मंच से उतरने का बोलकर अपमान किया गया था।

जिसका सपा रालोद दोनों ही पार्टियों के अलाकमान के नेताओं ने संज्ञान लेते हुए रालोद के जिलाध्यक्ष को इस घटना का जिम्मेदार माना, जिस पर रालोद के हाईकमान के आदेश पर रामरसपाल पौनियाँ ने स्वयं गलती मानते हुए आज सुबह श्री लोकमणिकांत जादौन जी के छाता स्थिति आवास पर पहुंच कर माफी मांगी। जिस पर सपा जिलाध्यक्ष श्री जादौन साहब ने उन्हें सार्वजनिक माफी मांगने को कहा तो दोनों नेताओं ने आज सपा जिलाकार्यालय पर संयुक्त प्रेसवार्ता रखी जिसमें रामरसपाल पौनियाँ ने सार्वजनिक रूप से मीडिया के समक्ष खुद कि गलती स्वीकारते हुए समाजवादी पार्टी से समाजवादी पार्टी मथुरा से जादौन समाज से जिलाध्यक्ष सपा मथुरा श्री लोकमणिकांत जादौन जी से माफी माँगी और भविष्य में ऐसी गलती न करने का वादा भी किया। प्रेसवार्ता के दौरान सपा जिलाध्यक्ष जादौन साहब ने रामरसपाल पौनियाँ कि गलती पर कहा कि छमा शोभिति उस भुजंग को जिसके पास गरल है उसको क्या जो दंतहीन, विषहीन, विनीत सरल हो। यह कहते हुए माफ कर दिया।

इस प्रेसवार्ता के दौरान मुख्यरूप से ठा. यदुवीर सिंह सिसौदिया रालोद,डॉ. साधना शर्मा,श्री गौरवकिशनपुरिया जिलाध्यक्ष सपा अधिवक्ता सभा, श्री लोकेश चौधरी जिलाध्यक्ष लोहिया वाहिनी, श्री राघवेंद्र ठाकुर जिलाध्यक्ष छात्र सभा, श्री रामबाबू पण्डा जी जिलाउपाध्यक्ष सपा, श्री गुरमुखदास जिलाध्यक्ष व्यापार सभा, खलील अहमद एड.भरत उपाध्याय, अजय गौड़, प्रह्लाद चौधरी, विजिंदर चौधरी, सत्यवीर चौधरी, राजवीर सिंह, लखन मुखिया, सत्यभान, धरजंय, मुकेश फौजी, चिंटू, मोहित, नारायण, खुशबू इत्यादि लोग मौजूद रहे।


शेयर करें

सम्बंधित ख़बरें

टीका - टिप्पणी