कोविड ने डिजिटल वल्र्ड को मजबूत किया

देहरादून। ग्राफिक एरा डीम्ड युनिवर्सिटी में एडवान्स्ड मार्केटिंग 4़0 विषय पर आयोजित अंतर्राष्ट्रीय वेबिनार में विशेषज्ञों का कहना था कि विभिन्न डिजिटल प्लेटफार्म इस महामारी की चुनौतियों का सामना करने में महत्वपूर्ण योगदान दे रहे हैं। कोविड ने डिजिटल वल्र्ड को और मजबूत कर दिया।
इस वेबिनार में जर्मनी के प्रो़ (डा़) लुट्ज एच़ ने कहा कि वर्तमान में बाजार में उपलब्ध सभी सेवाओं को इण्टरनेट कनैक्टिविटि बढ़ाने और डिजिटल रूप से सशक्त करने की आवश्यकता है। क्योंकि भविष्य का बाजार डिजिटल मार्केट के रूप में विकसित होने वाला है। गवर्नेन्स आऱए़के़ बैंक दुबाई के प्रोग्राम मैनेजर प्रदीप नेगी ने ग्राहक केन्द्रित दृष्टिकोण के बारे में बात करते हुए कहा कि ग्राहकों की जरूरत, उनकी मांग व उत्पाद के सपोर्ट सिस्टम को समझने के लिए डिजिटल साक्षरता आवश्यक है। डिसक्रिप्टिव मार्केंटिग रणनीती के बारे में समझाते हुए फ्रांस के कालेज डिपेरिस के वाईस प्रेसिडेण्ट श्री फिंक ने कहा कि भारत जैसे देश में बाजार में कोई नया विचार का्रंतिकारी साबित हो सकता है। ऐसे नवोचार की डिजिटल तकनीक और इण्टरनेट में आपार संभावनाएं हैं। विश्वविद्यालय के मैनेजमेण्ट विभाग और कानफेडेरशन आफ इण्डियन इन्डस्ट्री (सीआईआई) के संयुक्त वेबिनार में नेचर्स बास्केट के वाईस प्रेसिडेण्ट हर्षवर्धन चौहान और ग्रांट थार्टन की निधि महेश्वरी ने भी डिजिटल और एडवान्स्ड मार्केटिंग पर अपने विचार रखे। वेबिनार का संचालन गिरिश लखेड़ा ने किया। इस मौके पर मैनेजमेण्ट के विभागाध्यक्ष डा़ॅ नवनीत रावत, कार्तिकेय रैना, देश के के प्रमुख शैक्षणिक संस्थानों के शिक्षाविद् और ग्राफिक एरा के छात्र-छात्राएं व शिक्षक आनलाईन माध्यम से उपस्थित रहे।


शेयर करें

सम्बंधित ख़बरें

टीका - टिप्पणी