14 साल की नाबालिग को पिता और भाई ने मिलकर उतारा मौत के घाट, शव देख पुलिस भी दंग रह गई

शाहजहांपुर से एक ख़ौफ़नाक मामला सामने आया है। जहाँ एक पिता ने प्रेम प्रसंग के दौरान गर्भवती हुई अपनी ही नाबालिग बेटी का पहले तो सर कलम कर उसकी हत्या की और फिर उसके मृत शरीर को गांव से कुछ दूरी पर स्तिथ सूखे नाले में दफना दिया। ग्रामीणों की सूचना पर 11 दिन के बाद पुलिस ने बीते सोमवार देर रात गड्ढे की खुदाई कराकर नाबालिग का शव बाहर निकाला। पुलिस ने हत्या में प्रयुक्त कुल्हाड़ी व गड़ासा बरामद कर आरोपित पिता को गिरफ्तार कर लिया है।

मामला सिंधौली थाना क्षेत्र का है जहाँ दुल्हापुर गांव निवासी गजोधर लाल की 14 वर्षीय बेटी नीमा विगत 24 सिंतबर से लापता चल रही थी। ग्रामीणों ने जब उसके नीमा के पिता और स्वजनों से जानकारी लेनी चाही तो वह उनके सवालों से बचने लगे। धीरे-धीरे मामले की जानकारी जब एसपी तक पहुंची तो उन्होंने बीते सोमवार देर रात एएसपी ग्रामीण अपर्णा गौतम के नेतृत्व में सिंधौली पुलिस को मामले की जाँच पड़ताल के लिए मौके पर भेजा। जब सूखे नाले की खुदाई कराई गई तो एक बोरी बरामद हुई। जिसमे नीमा का सिर कटा शव बरामद हुआ।

ग्रामीणों द्वारा शव की शिनाख्त किये जाने के बाद पुलिस ने हत्यारोपी पिता गजोधर को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस पूछताछ के दौरान लड़की के पिता ने अपना जुर्म कबूल कर लिया है, जबकि उसका भाई फरार है। गजोधर ने पुलिस को बताया कि, बेटी का किसी लड़के से प्रेम प्रसंग चल रहा था। इस संबंध में कई बार पूछे जाने पर उसने कुछ नहीं बताया तो 24 सितंबर को कमरे में बेटे रामनिवास की मदद से घर में ही नीमा की गर्दन कुल्हाड़ी पर रखकर गंडासे से काट दी थी।

वहीं, हत्या में बराबर का भागीदार नाबालिग का भाई मौके से फरार है, जिसकी पुलिस द्वारा तलाश की जा रही है। इस मामले में गांव के ही एक ग्रामीण को भी हिरासत में लिया है। जिसके बेटे के साथ नाबालिग के प्रेम प्रसंग चलने की आशंका लग रही है। पुलिस का कहना है कि, जल्द ही इस पूरे मामले का खुलासा हो जाएगा।


शेयर करें

सम्बंधित ख़बरें

टीका - टिप्पणी