सरकारी अस्पताल में बने सार्वजनिक शौचालय में पुत्र को दिया जन्म

नगीना। शौच करने गई गर्भवती मंदबुद्धि भिखारन ने सरकारी अस्पताल परिसर में बने सार्वजनिक शौचालय मैं प्रसव पीड़ा होने पर एक पुत्र को जन्म दिया। जो नगर में चर्चा का विषय बना हुआ है। नगीना थाना क्षेत्र के निवासी मंबुद्धि महिला संतोष का विवाह राजेश कुमार नजीबाबाद के किसी गांव निवासी के साथ हुआ था, राजेश कुमार अपनी धर्म पत्नी को तीन मासूम बच्चों के साथ 8 वर्ष पूर्व नगीना शहर की वीरान गलियों में भटकने के लिए लावारिस अवस्था में कभी ना साथ ले जाने के मनसे छोड़कर चला गया था, जीवन भर साथ निभाने के बंधन में बंधे पति की बेरुखी के कारण बेचारी अभागन अपने तीनों मासूम बच्चों की गुजर बसर फुटपाथ पर रहकर और तुझ मुझसे रोटी कपड़ा और पैसे मांग कर उनका पालन पोषण चला रही है है लेकिन दुखों की मारी पति से ठुकराई इस मन बुद्धि महिला कड़ाके की सर्दी में भी दुकानों के बाहर बच्चों के साथ सो रही होगी वैहसी दरिंदों ने उस पर जरा भी तरस नहीं खाया और उसे अपनी हवस का शिकार बनाकर गर्भवती बना दिया यही मंदबुद्धि महिला शौच के लिए सीएचसी परिसर में बने सार्वजनिक शौचालय में गई थी कि अचानक प्रसव पीड़ा होने पर उसने वही एक पुत्र को जन्म दे दिया प्रसव पीड़ा से तड़प रही इस महिला को चीख-पुकार सुनकर वहां कुछ लोग एकत्र हो गए और यह सूचना चिकित्सालय में स्टाफ नर्स को दी जिसे बाद में अस्पताल में भर्ती कर आवश्यक उपचार दिया गया उपचार मिलने से जच्चा बच्चा दोनों सकुशल बताए जाते हैं।


शेयर करें

सम्बंधित ख़बरें

टीका - टिप्पणी