72 घंटे ही बने रहे शिक्षा मंत्री, इन कारणों से देना पड़ा इस्तीफा…….

पटना। सर मुंडाते ही ओले पड़े वाली कहावत चरितार्थ हुई बिहार की नई सरकार में शिक्षा मंत्री बनाये गये डॉ. मेवालाल चौधरी पर। जिन्हें पद संभालने के कुछ घंटों बाद अपने पद से इस्तीफा देना पड़ा।
मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के नेतृत्व में बिहार में नई सरकार का गठन हुआ जिसमें शिक्षा मंत्री बने डॉ मेवालाल चौधरी ने भ्रष्टाचार के लगे आरोपों के कारण पद से इस्तीफा दे दिया है। मेवालाल को पद संभालने के तीन बाद ही मंत्री पद से इस्तीफा देना पड़ा। इसे कहते हैं सर मुंडाते ही ओले पड़ना। इससे नीतिश सरकार पर विपक्षियों को भी हमला बोलने का मौका मिल गया है। आरजेडी के प्रमुख तेजस्वी ने कहा कि नीतिश ने घोटालेबाज मेवालाल को मंत्री बनाकर अपनी औकात दिखा दी है। हमने तो 10 लाख लोगों को रोजगार देने को प्राथमिता दी थी, लेकिन मुख्यमंत्री नीतिश ने तो घोटालेबाज को प्राथमिता दी है।


शेयर करें

सम्बंधित ख़बरें

टीका - टिप्पणी