एकता दिवस पीएम मोदी ने कोरोना, आतंकवाद, कश्मीर और पुलवामा हमले तक का किया जिक्र, नाम लिए बिना पाकिस्तान को दिया करारा जवाब

आज देश भर में सरदार वल्लभ भाई पटेल की जयंती मनाई जा रही है। इस दिन को पूरे देश में राष्ट्रीय एकता दिवस (राष्ट्रीय एकता दिवस) के रूप में भी मनाया जाता है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सरदार पटेल की 145 वी जयंती पर एक बार फिर सर्वहित देशहित का संदेश देते हुए आतंकवाद व नकारात्मक राजनीति पर बरसे। पुलवामा की घटना को याद करते हुए मोदी ने कहा कि इसमें भी लोगों ने राजनीतिक स्वार्थ ढूंढने का प्रयास किया।

पीएम मोदी ने कहा कि पिछले दिनों पड़ोसी देश से जो खबरें आईं हैं, जिस प्रकार वहां की संसद में सत्य स्वीकारा गया है। उसने इन लोगों के असली चेहरों को देश के सामने ला दिया है। अपने राजनीतिक स्वार्थ के लिए, ये लोग किस हद तक जा सकते हैं। पुलवामा हमले के बाद की गई राजनीति, इसका बड़ा उदाहरण है।

इस दौरान पीएम मोदी ने पुलवामा हमले को भी याद किया। उन्होंने कहा कि देश यह कभी नहीं भूल सकता कि पुलवामा हमले के दौरान कुछ लोग सुरक्षाकर्मियों के बलिदान पर दुखी नहीं थे। उस समय, ये लोग केवल राजनीति कर रहे थे। मैं उनसे राष्ट्र के हित में ऐसी राजनीति नहीं करने का अनुरोध करता हूं।

पीएम मोदी ने पुलवामा हमले के बाद की गई राजनीति पर कहा कि ऐसे राजनीतिक दलों से आग्रह करूंगा कि देश की सुरक्षा के हित में, हमारे सुरक्षाबलों के मनोबल के लिए, कृपा करके ऐसी राजनीति न करें, ऐसी चीजों से बचें।अपने स्वार्थ के लिए, जाने-अनजाने आप देशविरोधी ताकतों की हाथों में खेलकर, न आप देश का हित कर पाएंगे और न ही अपने दल का।

इस दौरान पीएम मोदी ने कहा कि आज दुनिया के सभी देशों को आतंकवाद के खिलाफ एकजुट होने की जरूरत है। आतंकवाद और हिंसा से किसी को फायदा नहीं हो सकता। भारत ने हमेशा आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई लड़ी है। उन्होंने कहा कि भारत ने आतंकवाद को हमेशा एकजुट होकर करारा जवाब दिया है।

पीएम मोदी मोदी ने कश्मीर से धारा 370 हटाने को याद करते हुए कहा कि, कश्मीर विकास की राह पर है। अयोध्या में भव्य राम मंदिर का निर्माण हो रहा है। मोदी ने सरदार पटेल को याद करते हुए कहा कि सरदार होते तो धारा 370 पहले ही खत्म हो गई होती। कहा कि, आज कश्मीर विकास की नई राह पर चल पड़ा है, चाहे वह पूर्वोत्तर में शांति की बहाली हो, या वहां के विकास के लिए उठाए जा रहे कदम, आज देश एकता के नए आयाम स्थापित कर रहा है।

इस दौरान पीएम मोदी ने कहा कि ये भी अद्भुत संयोग है कि आज ही वाल्मीकि जयंती भी है। आज हम भारत की जिस सांस्कृतिक एकता का दर्शन करते हैं। जिस भारत को अनुभव करते हैं। उसे और जीवंत और ऊर्जावान बनाने का काम सदियों पहले आदिकवि महर्षि वाल्मीकि ने ही किया था।

एकता दिवस पर बोलते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना महामारी का जिक्र किया। उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस ने जहां बड़े देशों को मजबूर किया, तो वहीं भारत ने इस महामारी का मजबूती से सामना किया। पीएम मोदी ने कहा कि 130 करोड़ भारतीयों ने मिलकर इस महामारी के खिलाफ अपनी लड़ाई में COVID19 योद्धाओं को सम्मानित किया। जिस तरह से देश ने इस दौरान अपनी सामूहिक क्षमता साबित की है वह अभूतपूर्व है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश के पहले गृह मंत्री सरदार वल्लभभाई पटेल की जयंती पर उन्हें श्रद्धांजलि दी। पीएम मोदी ने स्टैच्यू ऑफ यूनिटी पहुंचकर सरदार पटेल की जयंती पर उन्हें पुष्पांजलि अर्पित की है। प्रधानमंत्री नरेंद्र आज गुजरात में सीप्लेन सेवा की भी शुरुआत करेंगे। पीएम मोदी आज दोपहर 1 बजे वाटर एरोड्रम (साबरमती रिवरफ्रंट) का उद्घाटन करेंगे। पीएम मोदी सीप्लेन सेवा (साबरमती रिवरफ्रंट से केवडिया तक) का भी उद्घाटन करेंगे। आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अहमदाबाद और केवड़िया के बीच समुद्री विमान सेवा शुरू करेंगे। इस दौरान उनका विमान सेवा सहित कई परियोजनाओं की शुरुआत करने का भी कार्यक्रम है।


शेयर करें

सम्बंधित ख़बरें

टीका - टिप्पणी