ट्रांसपोर्टरों ने किया किसानों का समर्थन…. आवश्यक वस्तुओं की सप्लाई रोकने की दी धमकी…

नई दिल्ली। देश में पहले ही कृषि कानून संशोधन के विरोध में पंजा, हरियाणा, राजस्थान, उत्तर प्रदेश आदि राज्यों के किसानों द्वारा जारी आंदोलन के बीच अब उनके समर्थन में ट्रांसपोर्टरों ने भी मोर्चा खोलने की धमकी दे डाली है।
केन्द्रीय कृषि कानून पर मचे बबाल पर किसानों द्वारा केन्द्र सरकार से कृषि संशोधन बिलों को वापस लेने की धमकी के बीच अब देश की जीवन रेखा मानी जाने वाली ट्रांसपोर्टरों ने भी किसानों के समर्थन में आगामी आठ दिसम्बर को देशव्यापी हड़ताल का अह्वान किया है। ट्रांसपोर्ट यूनियनों ने किसान आंदोलन का समर्थन करते हुए उत्तर भारतीय राज्यों में और बाद में पूरे देश में आवश्यक वस्तुओं की आवाजाही को रोकने की धमकी दी है। लगभग एक करोड़ से अधिक माल वाहक ट्रक ड्राइवरों का संचालन करने वाली देश की सर्वोच्च ट्रांसपोर्ट सेवा- आल इंडिया मोटर ट्रांसपोर्ट कांग्रेस ने किसानों के समर्थन में हड़ताल पर जाने की कही है। उनके अध्यक्ष ने कहा कि आगामी आठ दिसम्बर से उत्तर भारत में और उसके बाद अगर सरकार ने किसानों की समस्या का समधान नहीं किया तो सम्पूर्ण देश में ट्रकों के चक्के जाम हो जायेंगे। उन्होंने कहा कि ट्रांसपोर्टर किसान आंदोलन का समर्थन करेंगे क्योंकि वे अपने वैध अधिकारों के लिए लड़ रहे हैं। देश में सड़क परिवहन की तरह कृषि क्षेत्र भी देश की रीढ़ है तथा भारत की लगभग 70-75 प्रतिशत ग्रामीण कृषि पर निर्भर हैं।


शेयर करें

सम्बंधित ख़बरें

टीका - टिप्पणी