किसानों की समस्याओं को लेकर महापौर ने ली सिंचाई विभाग के अधिकारियों की बैठक

कोटद्वार। नगर निगम की महापौर श्रीमती हेमलता नेगी ने नगर निगम क्षेत्र के अतर्गत खेती किसानी करने वाले किसानों की समस्याओं के समाधान को लेकर सिंचाई विभाग के अधिकारियों की बैठक लेते हुए क्षतिग्रस्त गूलों, नहरों की मरम्मत करने एवं आखिरी छोर पर खेती किसानी करने वाले किसान को पर्याप्त मात्रा में सिंचाई का पानी उपलब्ध करवाने के निर्देश दिये।
नगर निगम सभागार में आयोजित बैठक में महापौर श्रीमती हेमलता नेगी ने कहा कि वर्तमान समय में कोटद्वार भाबर में बड़ी संख्या में लोग अभी भी खेती किसानी कर अपने परिवारों का भरण पोषण कर रहे है, प्रदेश सरकार एवं राज्य सरकार ने किसानों की आय दोगुनी करने का भी वादा किया था, लेकिन वर्तमान में कोटद्वार भाबर में तमाम सिंचाई की गूलें एवं नहरे क्षतिग्रस्त हो रखी है, ऐसी स्थिति में किसानों को पर्याप्त मात्रा में पानी नहीं मिल पा रहा है। जिससे किसानो की आय दोगुना तो क्या उन्हें दो वक्त की रोटी के लिए दर-दर भटकना पड़ रहा है। सिंचाई विभाग के अधिकारियों ने कहा कि वर्तमान में उनके द्वारा नहरों की मरम्मत एवं सफाई के लिए करोड़ों के प्रस्ताव शासन को भेजे गये है, लेकिन शासन स्तर पर अभी तक सिंचाई गूलों एवं नहरों की मरम्मत के लिए किसी प्रकार की धनराशि अवमुक्त नहीं की गयी है, सिंचाई विभाग के अधिकारियों ने स्पष्ट रूप से कहा कि जब तक शासन स्तर पर सिंचाई के लिए पैसा उपलब्ध नहीं हो जाता तब तक वे गूलों एवं नहरों की मरम्मत करने में पूरी तरह से असमर्थ है। महापौर ने नगर आयुक्त से इस सम्बध में एक बार फिर से शासन स्तर पर पत्राचार किये जाने के निर्देश दिये साथ ही कहा कि यदि वे किसानों की समस्याओं को लेकर प्रदेश के मुख्यमंत्री एवं सिंचाई मंत्री से भी व्यक्तिगत रूप से पत्राचार कर धन आंवटित करने की मांग करेगी। इस मौके पर नगर आयुक्त पीएल शाह, सहायक नगर आयुक्त अंकिता जोशी, सिंचाई विभाग के ऐई विनोद कुमार सहायक अभियंता केके राज मौजूद थे।


शेयर करें

सम्बंधित ख़बरें

टीका - टिप्पणी