प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने किया टीकाकरण अभियान का शुभारम्भ, कही ये बड़ी बातें ………..

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये टीकाकरण का शुभारंभ किया। अपने संबोधन में उन्होंने वैक्सीन को लेकर अफवाहों से बचने की सलाह दी। साथ ही कहा कि कोरोना टीकाकरण की शुरुआत का मतलब यह नहीं है कि हम एहतियात बरतना छोड़ दें। हमें मास्क पहनने और शारीरिक दूरी का पालन करते रहना है। कोराना काल के मुश्किल दौर को याद कर पीएम भावुक हो उठे।
प्रधानमंत्री ने अपने संबोधन के प्रारम्भ में कहा कि इस दिन का पूरे देश को बेसब्री से इंतजार था। कितने महीनों से देश के हर घर में बच्चे, बूढ़े, जवान सबके मन में यही सवाल था कि कोरोना वैक्सीन कब आएगी? अब वैक्सीन आ गयी है, बहुत कम समय में आ गई है। उन्होंने राष्ट्रकवि दिनकर की पंक्तियों का उद्बबोधन करते हुये कहा कि मानव जब जोर लगाता है तो पत्थर भी पानी बन जाता है।
उन्होंने कहा कि हमारे वैज्ञानिकों ने वैक्सीन ऐसी तकनीक से बनाई है जो भारत में ट्राइड और टेस्टेड है। ये वैक्सीन स्टोरेज से लेकर ट्रांसपोर्टेशन तक भारतीय स्थितियों और परिस्थितियों के अनुकूल हैं। साथ ही उम्मीद जताई कि वैक्सीन भारत को कोरोना के खिलाफ लड़ाई में निर्णायक जीत दिलाएगी।
पीएम मोदी ने कहा कि हमारे वैज्ञानिक और विशेषज्ञ जब दोनों मेड इन इंडिया वैक्सीन की सुरक्षा और प्रभाव को लेकर आश्वस्त हुए, तभी उन्होंने इसके इमरजेंसी उपयोग की अनुमति दी। उन्होंने देशवासियों को किसी भी तरह के अफवाहें और दुष्प्रचार से बचकर रहना है। भारतीय वैक्सीन विदेशी वैक्सीन की तुलना में बहुत सस्ती हैं और इनका उपयोग भी आसान है। विदेश में तो कुछ वैक्सीन ऐसी हैं जिसकी एक डोज भी काफी मंहगी है।


शेयर करें

सम्बंधित ख़बरें

टीका - टिप्पणी