मिलेगा 10 हज़ार तक का लोन, वो भी बिना गारंटी, यहां जानें कैसे मिलेगा इस योजना का लाभ

रेहड़ी-पटरी के सहारे अपनी रोजी-रोटी चलाने वाले लोगों के लिए प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना’ काफी मददगार रही है। ग़ौरतलब है कि, कोरोना काल में सड़क किनारे रेहड़ी-पटरी लगाकर अपने परिवार का भरण पोषण करने वाले दुकानदारों की आमदनी पर गहरा और प्रतिकूल प्रभाव पड़ा है। ऐसे में सरकार इन रेहड़ी-पटरी वालों को एक बार फिर से अपने कारोबार को खड़ा करने के लिए सहायता धनराशि यानी कि लोन दे रही है। यह लोन किफायती दरों पर मिल रहा है। सरकार की इस लोन स्कीम का नाम पीएम स्ट्रीट वेंडर्स आत्मनिर्भर निधि (पीएम स्वनिधि) रखा गया है।

सरकार का उद्देश्य यही है कि, सड़क किनारे रेहड़ी-पटरी वाले ऐसे दुकानदारों को इस स्कीम से लाभ मिले और वो दोबारा अपने छोटे कारोबार को पटरी पर ला सकें। सस्ती दरों पर मिलने वाले इस सरकारी लोन की स्कीम को जून 2020 में लॉन्च किया गया। इसकी विशेषता है कि, इसके तहत बांटे गए लोन के लिए किसी तरह की गारंटी नहीं ली जाती है।

इस योजना के तहत रेहड़ी-पटरी वाले दुकानदारों को 10 हजार रुपये तक का लोन मुहैया कराया जाता है। इससे उन्हें अपने कारोबार को फिर से शुरू करने में मदद मिलती है। इसके तहत ठेले वाले दुकानदार, नाई की दुकान, मोची, पान की दुकान, लॉन्ड्री सेवाओं को समाहित किया गया है। इसमें ठेले पर सब्जी वाले, फल वाले, चाय, पकौड़े, ब्रेड, अंडे, कपड़े, दस्तकारी उत्पाद और किताबें/कॉपियां बेचने वाले दुकानदार शामिल हैं।


शेयर करें

सम्बंधित ख़बरें

टीका - टिप्पणी