जो बाइडन आज संभालेंगे अमेरिकी राष्ट्रपति का पदभार

दुनिया के सबसे ताकतवर देश अमेरिका की कमान आज से जोसेफ रॉबिनेट बाइडन जूनियर के हाथों में होगी। 78 वर्षीय बाइडन अमेरिका के सबसे उम्रदराज राष्ट्रपति होंगे, पर उनकी शख्तियत को समझा जाए तो उम्र महज उनके लिए एक आंकड़ा भर है।
जो बाइडन 29 साल की उम्र में सबसे युवा सीनेटर बने थे। वह छह बार सीनेटर चुने गए। उनके बारे में कहा जाता है कि उनके आज उनके इस मुकाम तक पहुंचने के पीछे कोई ताकत है तो वह है, उनका लोगों से गहरा जुड़ाव और संवाद में ईमानदारी।
बाइडन के वाशिंगटन की राजनीति के लंबे अनुभव का लाभ ओबामा को मिला, जिन्हें पहले कार्यकाल में ज्यादा प्रशासनिक जानकारी नहीं थी। बाइडन आर्थिक सामाजिक सुधार के लिए मुखर रहे हैं, तो खुद को मुख्यधारा का उदारवादी मानते हैं। ओबामा सरकार में अफोर्डेबल केयर एक्ट और 2008 में आई मंदी में आर्थिक पैकेज देने और सुधार लागू कराने में अहम भूमिका रही।
बाइडन ने ओबामा के कार्यकाल के आठ वर्षों तक भारत अमेरिकी संबंधों को मजबूत करने की पैरवी की । उन्होंने दोनों देशों के बीच परमाणु समझौते के पारित होने में भी अहम भूमिका निभाई थी।


शेयर करें

सम्बंधित ख़बरें

टीका - टिप्पणी