किसान नेताओं को समझौता तोड़ने पर दिल्ली पुलिस का नोटिस

दिल्ली पुलिस ने योगेंद्र यादव, बलदेव सिरसा और बलबीर एस राजेवाल समेत कम से कम 20 किसान नेताओं को ट्रैक्टर रैली के समझौते को तोड़ने को लेकर नोटिस भेजा है। इस पर जवाब देने के लिए तीन दिन का समय दिया गया है।
गणतंत्र दिवस के दिन ट्रैक्टर रैली के दौरान दिल्ली में हुई हिंसा के बाद से पुलिस-प्रशासन किसान आंदोलनकारियों पर काफी सख्ती कर रही है। एक ओर जहां मेरठ के बड़ौत में 40 दिन से चल रहे प्रदर्शन को पुलिस ने बीती रात खत्म कराया, वहीं यूपी गेट पर आंदोलन स्थल की बिजली काट दी गई। बिजली कटने के बाद अंधेरा होने के चलते गिरफ्तारी के डर से किसानों ने खुद रात में जागकर पहरा दिया। उधर गाजियाबाद में हर थाने की पुलिस को अलर्ट किया गया है। किसी भी समय तैयार रहने के आदेश शासन द्वारा दिये गये हैं।
गाजियाबाद में सभी थानों में पुलिस को अलर्ट रहने के लिए कहा गया है। हर थाना पुलिस को निर्देश दिया गया है कि बॉडी प्रोटेक्टर व हेलमेट के साथ तैयार रहें। यूपी गेट पहुंचने से 15 मिनट पहले निर्देश दिया जाएगा। उधर टीकरी बॉर्डर पर सुरक्षा के पुख्ता इन्तजाम किये गये हैं। भारी मात्रा में बल तैनाद किया गया है। हालांकि इसके बाद भी कृषि कानूनों के खिलाफ टिकरी बॉर्डर पर किसानों का विरोध-प्रदर्शन जारी है।


शेयर करें

सम्बंधित ख़बरें

टीका - टिप्पणी