शिक्षामंत्री 2021-परीक्षाओं के आयोजन को लेकर वर्चुअल कांफ्रेंस करेंगे

नई दिल्ली। कोरोना महामारी के चलते छात्रों के साथ खिलवाड़ न हो इसी के चलते सरकार अब बच्चों के भविष्य को लेकर चिंतित है और खासकर बोर्ड परीक्षाओं के मद्देनजर देश के शिक्षामंत्री रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ तीन चरणों में छात्रों, शिक्षकों एवं अभिभावकों से बातचीत करेंगे। इसके बाद परीक्षाओं को लेकर निर्णय किया जाएगा और जो भी सुझाव प्राप्त होंगे उन पर गौर किया जाएगा।
शिक्षा मंत्री ने कहा कि कोविड-19 के चलते अभी तक छात्रों का पढ़ाई-लिखाई का टे्रंड पूरी तरह ऑन लाइन ही चलता रहा है। जिसके मद्देनजर अब विद्यार्थियों से सफल परीक्षाओं का समय पर निराकरण करना एक जटिल समस्या बन गयी है। मंत्रालय का कहना है कि शिक्षार्थियों का बेहतर और सुन्दर भविष्य सुनिश्चित करने हेतु परीक्षाओं का होना बहुत जरूरी है। शिक्षा मंत्री निशंक ने इसके लिए त्रिस्तरीय वर्चुअल बातचीन करने का फैसला किया है तथा इसकी जानकारी मंत्रालय की वेबसाइट समेत देशभर के तमाम सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म, शिक्षामंत्री फेसबुक के साथ-साथ उनके ट्विटर एकाउंट पर भी उपलब्ध होगी। इस संवाद के बाद शिक्षामंत्री देश में होने आयोजित होने वाली परीक्षाओं की समीक्षा करने के बाद स्वास्थ्य और गृह मंत्रालय के आदेशों के अनुसार, परीक्षाओं के संचालन की विस्तृत योजना बनाई जाएगी तथा सरकार की पूरी कोशिश होगी कि परीक्षाओं के संचालन में छात्रों का समय बेकार न बर्बाद हो। शिक्षा मंत्री ने देशभर के छात्रों, अभिभावकों और शिक्षकों को इस वर्चुअल वेबिनार से जुड़ने की अपील की है। जिससे छात्रों का बेशकीमती समय बेकार न हो। इसलिए परीक्षा का आयोजन और उसके उपरांत परीक्षा परिणाम समय पर करने की हर संभव कोशिश करेंगे।


शेयर करें

सम्बंधित ख़बरें

टीका - टिप्पणी