निराशाजनक : Johnson & Johnson ने लगाई कोरोना वैक्सीन के ट्रायल पर रोक, जानें वजह

कोविड-19 महामारी से निजात हेतु दुनियाभर में कोरोना वैक्सीन के इज़ात को लेकर प्रयास जारी है। पूरा विश्व जहाँ इस वैक्सीन के आने की बेसब्री से बाट जोह रहा है। वहीं, इस बीच एक निराशाजनक खबर आई है कि, जॉनसन एंड जॉनसन ने अपनी कोरोना वैक्सीन के ट्रायल पर रोक लगा दी है। ट्रायल में भागीदार रहे एक शख्स में किसी तरह की बीमारी होने के चलते जॉनसन एंड जॉनसन ने फिलहाल अपनी कोरोना वैक्सीन के ट्रायल को विराम दे दिया है।

न्यू जर्सी कंपनी न्यू ब्रंसविक के एक प्रवक्ता जेक सरजेंट ने हेल्थ केयर न्यूज मुहैया कराने वाली एजेंसी STAT की रिपोर्ट को सही बताया और कहा कि जॉनसन एंड जॉनसन की कोरोना वायरस की वैक्सीन पर जारी ट्रायल को रोक दिया गया है।

गौरतलब है कि, इस महीने की शुरुआत में जॉनसन एंड जॉनसन अमेरिका में वैक्सीन बनाने वालों की शॉर्ट लिस्ट में शामिल हुआ है। जॉनसन एंड जॉनसन की एडी26-सीओवी2-एस वैक्सीन अमेरिका में चौथी ऐसी वैक्सीन है, जो क्लिनिकल ट्रायल के अंतिम चरण में है। पिछली बार की रिपोर्ट में कहा गया था कि, वैक्सीन ने प्रारंभिक अध्ययन में कोरोना वायरस के खिलाफ एक मजबूत प्रतिरक्षा प्रतिक्रिया बनाई है। शोधकर्ताओं ने कहा था कि, अब तक के परीक्षण परिणामों के आधार पर कोई गंभीर और नकरात्मक प्रभाव नहीं देखे गए थे।

जॉनसन एंड जॉनसन ने जब इस वैक्सीन के अंतिम चरण के परीक्षण को शुरू किया था, तब कंपनी ने कहा था कि इसके तहत अमेरिका, दक्षिण अफ्रीका, ब्राजील, चिली, कोलंबिया, मैक्सिको और पेरू में 60 हजार लोगों पर वैक्सीन का परीक्षण किया जाएगा। जॉनसन एंड जॉनसन की वैक्सीन के ट्रायल पर रोक लगने की खबर ऐसे वक्त में आई है, जब इससे पहले एस्ट्राजेनेका की वैक्सीन पर रोक लगा दी गई थी।


शेयर करें

सम्बंधित ख़बरें

टीका - टिप्पणी