ब्रेकिंग : भारत ने पोखरण में किया ‘नाग’ एंटी टैंक गाइडेड मिसाइल का सफल परीक्षण

भारत ने गुरुवार सुबह सुरक्षा की दृष्टि से एक बड़ी कामयाबी हासिल की है। रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (DRDO) द्वारा विकसित नाग एंटी टैंक गाइडेड मिसाइल का पोखरण में सफल परीक्षण किया गया। इस मिसाइल का टेस्ट वॉरहेड पर किया गया है। इस देसी मिसाइल का परीक्षण पोखरण में गुरुवार सुबह 06.45 बजे किया गया।

गौरतलब है कि नाग मिसाइल पूरी तरह से देसी है और इस तरह की मिसाइलों में भारत द्वारा निर्मित थर्ड जेनरेशन की है। DRDO की ओर से लगातार इसके अलग-अलग ट्रायल किए जाते हैं। इससे पहले भी नाग मिसाइल के कई अन्य ट्रायल किए जा चुके हैं। साल 2017, 2018 और 2019 में अलग-अलग तरीके की नाग मिसाइलों का परीक्षण हो चुका है। जिनमें अचूक निशाना लगाने की क्षमता है और दुश्मन के टैंक को नेस्तानाबूद कर सकती है। ये वजन में काफी हल्की होती है।

ये ट्रायल राजस्थान के पोखरण फील्ड के फायरिंग रेंज से पूरा किया गया। भारत और चीन के बीच चल रहे एलएसी विवाद के बीच यह परीक्षण अपने आप में अहम माना जा रहा है। पिछले दिनों डीआरडीओ प्रमुख ने कहा था कि संस्थान सेना के लिए स्वदेशी मिसाइलों को तैयार में जुटा हुआ है, ताकि मिसाइल क्षेत्र में भारत को आत्मनिर्भर बनाया जा सके।

आपको बता दें कि एंटी टैंक मिसाइल दुश्मन के टैंक समेत अन्य सैन्य वाहनों को सेकेंडों में समाप्त कर सकती है। ये मीडियम और छोटी रेंज की मिसाइल होती हैं, जो फाइटर जेट, वॉर शिप समेत अन्य कई संसाधनों के साथ काम कर सकती है। भारत ने पिछले करीब एक महीने में अलग-अलग तरीके की आधा दर्जन से अधिक ऐसी ही स्वदेशी मिसाइलों का सफल परीक्षण किया है।


शेयर करें

सम्बंधित ख़बरें

टीका - टिप्पणी