बिहार चुनाव 2020 : भाजपा के मंत्र वोट के बदले वैक्सीन पर विपक्ष हुआ हमलावर, खड़े किये सवाल

बिहार चुनाव 2020 : बिहार विधानसभा चुनाव के लिए भाजपा ने अपना घोषणापत्र संकल्प पत्र के नाम से जारी किया। गुरुवार को वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने पटना में भाजपा का घोषणापत्र जारी कर दिया। भाजपा ने हर बिहारवासी को फ्री कोरोना वैक्सीन का वादा किया है| इसके आलावा भाजपा ने 19 लाख रोजगार देने का वादा किया है| निर्मला सीतारमण ने कहा कि,’बिहार के प्रत्येक व्यक्ति को मुफ्त टीकाकरण मिलेगा। यह हमारे चुनाव घोषणापत्र में उल्लिखित पहला वादा है| हालांकि, बीजेपी अब इसपर सवालों का सामना कर रही है| विपक्षी पार्टियों सहित सोशल मीडिया पर भी लोगों ने इसपर सवाल उठाए हैं|

वहीं, कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने तंज भरे लहजे में अपने ट्वीट में कहा कि भारत सरकार ने कोरोना वैक्सीन की रणनीति की घोषणा की है. ये जानने के लिए कि वैक्सीन और झूठे वादे आपको कब मिलेंगे, कृपया अपने राज्य के चुनाव की तारीख़ देखें. वहीं कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि प्रवासी श्रमिक संकट में, बिहार के सीएम और डिप्टी सीएम ने कहा कि वे बिहारियों को प्रवेश नहीं करने देंगे. पीएम ने कहा कि टीका संभवत: एक साल से पहले नहीं लगाया जा सकता. कोरोना के कारण 1 हजार बिहारियों की मौत हुई.

बिहार चुनाव के मद्देनजर भाजपा के वादे पर कांग्रेस नेता शशि थरूर ने कहा कि तुम मुझे वोट दो मैं तुम वैक्सीन …. क्या इलेक्शन कमीशन इस पर सरकार से सवाल करेगा? वहीं बिहार के भाजपा प्रभारी भूपेंद्र यादव ने कहा कि हमने वादा किया है कि बिहार में हमारी सरकार कोरोना वैक्सीन निःशुल्क उपलब्ध करायेगी. सार्वजनिक स्वास्थ्य की बात आती है तो राजनीतिक दलों को संवेदनशील होना चाहिए. हम अपना वादा पूरा करेंगे.

1 -कोरोना का नि शुल्क टीकाकरण उपलब्ध कराएंगे।
2- विद्यालय उच्च शिक्षा के विश्वविद्यालयों तथा संस्थानों में 3लाख शिक्षकों की नियुक्ति करेंगे।
3- बिहार के नेक्स्ट जेनरेशन आईटी हब के रूप में विकसित करके अगले 5 वर्ष में 5 लाख से ज्यादा रोजगार के अवसर।
4- 50 हजार करोड़ की व्यवस्था कराकर 1 करोड़ महिलाओं को स्वावलंबी बनाएंगे।
5- कुल 1 लाख लोगों को स्वास्थ्य विभाग में नौकरी के अवसर प्रदान करेंगे, दरभंगा में एम्स का संचालन 2024 तक।
6- धान तथा गेहूं के बाद अब दलहन की भी खरीद एम एस पी दरों पर।
7- 30 लाख लोगों को 2022 तक पक्के मकान।
8- मेडिकल इंजिनियरिंग सहित तकनीकी शिक्षा को हिंदी भाषा में उपलब्ध कराएंगे।
9- अगले दो सालों में निजी तथा कोम्फेड आधारित 15 दुग्ध प्रोसेसिंग उद्योग स्थापित करेंगे।
10- मछलियों के उत्पादन में बिहार को देश का नंबर एक राज्य बनाएंगे।
11- एक हजार नए किसान उत्पाद संघों को आपस में जोड़कर राज्यभर के विशेष सफल उत्पाद, (जैसे- मक्का, फल, सब्जी, चूड़ा, मखाना, पान, मशाला, शहद, मेंथा, औषधीय पौधों के लिए सप्लाई चेन विकसित करेंगे) और 10 लाख रोजगार के अवसर उपलब्ध होंगे।


शेयर करें

सम्बंधित ख़बरें

टीका - टिप्पणी