कोटद्वार : स्टे होम प्रतियोगिता का रिजल्ट की घोषणा

शिवानंद लखेड़ा

कोटद्वार : वैश्विक महामारी कोरोना वायरस संक्रमण से हुई देश में लोकडाउन की स्थिति में स्कूली बच्चों को अपने पौराणिक धार्मिक ग्रंथों के पात्र की जानकारी के उद्देश्य से स्टे होम प्रतियोगिता का आयोजन किया गया जिसमें रामायण, महाभारत के किसी भी एक पात्र का संवाद अथवा अभिनय कर उस पात्र से हमें क्या शिक्षा मिलती है का स्वयं का वीडियो बनाकर आयोजन कर्ता को व्हाट्सएप नंबर पर प्रेषित करना था जिसमें विभिन्न स्कूलों के छात्र-छात्राओं द्वारा प्लेग्रुप से लेकर कक्षा 12 तक के प्रतिभागियों ने प्रतिभाग किया यह प्रतियोगिता लॉक डाउन में शुरू की गई जो 5 अप्रैल 2020 से 7 मई 2020 के बीच हमें 52 वीडियो प्राप्त हुए जोकि कोटद्वार क्षेत्र के अधिकतर विद्यालय के छात्र छात्राओं के द्वारा प्रतियोगिता में प्रतिभाग किया गया है हमारे बीच हमारे इस क्षेत्र से संबंधित विषय विशेषज्ञों द्वारा गहन विचार-विमर्श से प्रतिभागियों का चयन किया गया।

प्रतियोगिता का चयन इस प्रकार से

1-कुमारी *कृष्णा कुकरेती एमकेवीएन स्कूल कोटद्वार
२-द्वितीय स्थान प्राप्त करता श्रेया काला डीएवी कोटद्वार
3-तृतीय स्थान प्राप्त करता अंशिका अग्रवाल आर पी पब्लिक स्कूल तेलीवाड़ा कोटद्वार

सांत्वना पुरस्कार प्राप्त करता पार्थ पार्थ सारथी मिश्रा डीएवी कोटद्वार, भूमिका सती एम के बी एन पब्लिक स्कूल, सिमरन डीएवी पब्लिक स्कूल कोटद्वार, तेजस्वी ठाकुर डीएवी पब्लिक स्कूल कोटद्वार द्वारा विजय घोषित किया जिसमें प्रथम स्थान प्राप्त प्रतिभागी को प्रतिभागी को नगद धनराशि 2500 व स्मृति चिन्ह प्रमाण पत्र तथा द्वितीय पुरस्कार प्राप्त करता को नगद धनराशि 1500 इसमें प्रमाण पत्र तथा तृतीय स्थान प्राप्त करता को नगद धनराशि 1000 स्मृति चिन्ह प्रमाण पत्र जबकि चार सांत्वना पुरस्कार प्राप्त विजई प्रतिभागियों को प्रति प्रतिभागी को ₹500 स्मृति चिन्ह और प्रमाण पत्र दिए जाएंगे एवं आयोजक करता श्री शिवानंद लखेडा द्वारा घोषणा की गई कि सभी प्रतिभागियों को स्मृति चिन्ह एवं प्रमाण पत्र भी दिए जाएंगे उनके विद्यालयों।

इस प्रतियोगिता में निर्णायक की भूमिका में हमारे बीच अनुभवी धार्मिक ग्रंथों के विषय विशेषज्ञ श्रीमती लक्ष्मी शाह रूद्रप्रयाग (सह राज्य प्रभारी महिला पतंजलि समिति उत्तराखंड) कथावाचक आचार्य अतुल कृष्ण महाराज जी, महेंद्र सापा जी विश्व हिंदू परिषद कार्यकर्ता अमेरिका एवं हेमराज जी हिंदू विचारक गुजरात “एक भारत श्रेष्ठ भारत” धेय वाक्य से प्रेरित होकर यह “स्टे होम फाइट फॉर कोरोना प्रतियोगिता” आयोजित की गई जिसमें मुख्य संयोजक के रूप में शिवानंद लखेड़ा द्वारा लॉक डाउन की स्थिति में घर पर ही रह कर अपने बच्चों को किस प्रकार से अपने धार्मिक ग्रंथों एवं अपनी सांस्कृतिक विरासत को अपने नौनिहालों तक कैसे पहुंचाया जाए मन में विचार आया जिसको एक प्रतियोगिता के रूप में आयोजित करने का फैसला किया गया ! सहयोगकर्ता श्री धनपाल सिंह रावत का हृदय से धन्यवाद करता हूं कि आप ने इस प्रतियोगिता मेरा मार्गदर्शन किया जिस कारण से यह प्रतियोगिता सफलता की ओर अग्रसर हो पाई और सभी विजयी प्रतिभागियों को मेरी ओर से बहुत-बहुत हार्दिक शुभकामनाएं उनके माता-पिता गुरुजनों को धन्यवाद प्रेषित करना चाहूंगा।


शेयर करें

सम्बंधित ख़बरें

टीका - टिप्पणी